पुस्तक प्रकाशित

प्रकाशन कार्यक्रम

 राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय प्रकाशन विभाग के निम्‍न दायित्‍व है :-

      1.  रंगमंच विषय पर पाठ्य पुस्‍तकें मुद्रित करना
      2. रंगमंच विषय पर महत्‍वपूर्ण पुस्‍तकों के अंग्रेजी से हिन्‍दी अनुवाद की व्‍यवस्‍था करना।
      3. रंगमंच विषय पर अन्‍य महत्‍वपूर्ण पुस्‍तकों को प्रकाशित करना।

 इस इकाई का पहला बड़ा प्रकाशन ‘रंग यात्रा’ जिसमें रानावि रंगमंडल के वर्ष 1964 के बाद से 25 वर्षों के इतिहास को संजोया गया, 1990 में मुद्रित हुआ। वर्ष 1997-2000 के बीच नियमित प्रकाशन के अलावा प्रकाशन इकाई ने नाटक व अन्‍य संबंधित विषयों पर 27 प्रकाशन प्रकाशित किए, इसमें रानावि की कुछ महत्‍वपूर्ण पुस्‍तकें एवं पत्रिकाएं निम्‍न हैं : 

थियेटर इंडिया

 theatre india

वर्ष 1999 में प्रारंभ हुई थियेटर इंडिया विद्यालय की अर्द्धवार्षिक अंग्रेजी पत्रिका है जो भारत की मौजूदा सांस्‍कृतिक और रंगमंचीय परंपराओं के व्‍यापक परिप्रेक्ष्‍य को प्रभावी रूप से चित्रित करती है। इसका उद्देश्‍य रंगमंच प्रेमियों को भाषा, क्षेत्र और संस्‍कृति की बाधाओं को मिटाकर कला के विविध रूपों से अवगत करवाना है। इस पत्रिका के माध्‍यम से विद्यालय भिन्‍न-भिन्‍न भाषायी पृष्‍ठभूमि के पाठकों के बीच दूरी पाटने का प्रयास करता है। थियेटर इंडिया पत्रिका, शुल्‍क द्वारा प्राप्‍त की जा सकती है।

 इसके वार्षिक मूल्‍य के लिए कृपया संपर्क करें

संपादक, थियेटर इंडिया राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय

बहावलपुर हाउस, भगवानदास रोड

नई दिल्‍ली – 110001 Theatre India

 

रंग प्रसंग

 

 rang prasang

रंग प्रसंग विद्यालय की हिन्‍दी भाषा की पत्रिका है जिसका उद्देश्‍य पिछले 50 वर्षों में रंगमंच के बदलते परिदृश्‍य को दर्शाना है। प्रत्‍येक अंक क्षेत्र विशेष की रंगमंच गतिविधियों पर प्रमुख रूप में संबंधित रहता है। प्रत्‍येक अंक में आमतौर पर रंगमंच और नाट्य कलाओं की विभिन्‍न तकनीकों विषय पर विचारोत्तेजक लेखों का समावेश किया जाता है। इसके अतिरिक्‍त हिन्‍दी में लिखे नाटकों और हिन्‍दी में ही अनुदित किए गए नाटकों की पांडुलिपियों का भी इस अंक में समावेश रहता है। रंग प्रसंग शुल्‍क देकर खरीदी जा सकती है।

 इसके वार्षिक मूल्‍य के लिए कृपया संपर्क करें

संपादक, रंग प्रसंग, राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय

बहावलपुर हाउस, भगवानदास रोड

नई दिल्‍ली – 110001 

  

राजभाषा मंजूषा

 हमारे गणतंत्र की स्‍वर्ण जयंती मनाने के लिए राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय ने कुछ नए कार्यक्रम शुरू किए। हिन्‍दी में ‘राजभाषा मंजूषा’ नाम से एक नई पत्रिका

का प्रकाशन उन्‍हीं में से एक है। पत्रिका का उद्देश्‍य राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय के अधिकारियों/कर्मचारियों को हिन्‍दी में कामकाज करने के लिए प्रोत्‍साहित करना और उन्‍हें साहित्‍य सृजन की प्रेरणा देना है। जाने-माने हिन्‍दी लेखकों के अतिरिक्‍त विद्यालय के कर्मचारी भी इस पत्रिका में अपने लेखों का योगदान करते हैं। यह पत्रिका नि:शुल्‍क है।

 

पत्रिका से संबंधित जानकारी लेने के लिए कृपया संपर्क करें

सहायक निदेशक (हिन्‍दी), राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय

बहावलपुर हाउस, भगवानदास रोड

नई दिल्‍ली – 110001

 

यहां डाउनलोड करें : भाग-१   |   भाग-२  |  भाग-3

राजभाषा मंजूषा (२० वीं संस्करण)

 rajbhasha small

डाउनलोड के लिएयहां क्लिक करे

रंगमंच

त्रिमाही समाचार पत्र (न्‍यूज लैटर) 

rang manch

राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय ने वर्ष 2007 से अपने तिमाही समाचार पत्र (न्‍यूजलैटर) रंगमंच का प्रकाशन आरंभ किया जिसके प्रवेशांक में वर्ष की पहली तिमाही की गतिविधियों को लेते हुए यह अप्रैल, 2007 में प्रकाशित हुआ। इस समाचार पत्र का उद्देश्‍य था कि विद्यालय के विभिन्‍न अनुभागों के कार्यों को उनके होने के समयानुसार सूचीबद्ध करके एक समेकित व बोधगम्‍य रूप में पाठकों के समक्ष प्रस्‍तुत करना। यह शैक्षिक गतिविधियों, कार्यालयी बैठकों, प्रस्‍तुतियों, समारोहों, साहित्यिक मेल-मिलाप,  रानावि द्वारा संचालित व आयोजित विस्‍तार कार्यक्रम की कार्यशालाएं एक अभिलेख के रूप में है।   

 

 

 

 

 

रा.ना.वि. थियेटर गैलरी

रा.ना.वि. अद्यतन समाचार

रा.ना.वि.स्थान

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय
बहावलपुर हाउस, भगवानदास रोड, नई दिल्ली - 110 001
Tel - 011-23389402